इस्कॉन शिष्य पाठ्यक्रम का विवरण

इस्कॉन शिष्य पाठ्यक्रम में आपका स्वागत है । यह पाठ्यक्रम इस्कॉन के बहु-गुरु-प्रणाली के अंतर्गत गुरु-तत्त्व एवं गुरु-पादाश्रय जैसे विषयों में आपकी समझ को और अधिक प्रगाढ़ता से समझने में सहायता करेगा । इसे न केवल नए भक्त, जो दीक्षा के लिए तैयारी कर रहे हैं, परन्तु इस्कॉन के अन्य वरिष्ठ भक्तों, प्रचारकों एवं परामर्शदाताओं को भी ध्यान में रखकर बनाया गया है । वे सभी इस से अवश्य लाभान्वित होंगे ।

यह पाठ्यक्रम ‘जीबीसी-गुरु सेवा समिति’ के निर्देशन एवं इस्कॉन के अग्रणी शिक्षा-विशारदों के संयुक्त प्रयासों के साथ दो साल की अवधि में विकसित किया गया। इस पाठ्यक्रम को श्रील प्रभुपाद, वर्तमान इस्कॉन आचार-संहिता एवं व्यापक गौड़ीय-वैष्णव परंपरा के संदर्भित लेखन एवं शिक्षाओं पर आधारित किया गया है ।

पात्रता:
1. अभ्यर्थी को कम से कम एक महीने से सोलह माला का जप और चार नियामक सिद्धांतों का पालन करते हुए होना चाहिए।
2. अभ्यर्थी स्थानीय इस्कॉन मंदिर के अध्यक्ष या चित-परिचित प्राधिकारी द्वारा प्रमाणित होना चाहिए की वह निष्ठापूर्वक स्थानीय इस्कॉन केंद्र में सेवा प्रदान करता/ करती है ।

कोर्स शिक्षक: बाल-गोविन्द दास।

अवधि: ११ घंटे – १३ वीडियो देखने का कुल समय है।

पाठ्यक्रम शुल्क: पूरे पाठ्यक्रम के लिए के लिए एक बार भुगतान – १०००/ – रुपये ।

विधि: इस कोर्स को चार इकाइयों में बांटा गया है ।

१. परिचय , सिद्धांत और संदर्भ – अध्याय १-४
२. गुरू के साथ संबंध स्थापित करना – अध्याय ५-७
३. गुरु के साथ आदान-प्रदान – अध्याय ८-११
४. सहयोग से इस सम्बन्ध को निभाना और अंत में सारांश – अध्याय १२-१३

प्रत्येक इकाई में ऑनलाइन वीडियो क्लास और जुडी हुयी पठन सामग्री की एक श्रृंखला है जिसे उम्मीदवार द्वारा अध्ययन किया जाना है।

बहु विकल्प प्रश्नोत्तरी ( एमसीक्यू )

आपको प्रश्नों के उत्तर देने के लिए वीडियो-पाठ का अध्ययन करना आवश्यक हैं।

यह प्रश्नोत्तरी वीडियो-पाठ के साथ ही साथ छात्र-पुस्तिका ( SHB ) पर भी आधारित है ।
प्रश्नोत्तरी के अंक स्वतः ही आपके कंप्यूटर पटल पर प्रकाशित हो जायेंगे ।
प्रश्नोत्तरी को हल करते समय आप बाएं पैनल पर सवालों की कुल संख्या और उलटी गिनती काउंटर भी देख सकेंगे ।

किसी भी प्रश्न को हल करने के बाद, बाईं तरफ प्रश्न संख्या का रंग हल्के भूरे रंग में बदल जाएगा।
जिन प्रश्नों को अभी तक हल करने का प्रयास नहीं किया गया है वे सफेद रंग में ही रहेंगे ।

आप अंत में प्रश्नोत्तरी जमा करने से पहले तक किसी भी उत्तर का चुनाव बदल सकते हैं।
प्रश्नोत्तरी जमा करने के बाद , आप सिस्टम द्वारा अंक गणना अपनी अंकगणिका में देख पाएंगे।
प्रत्येक प्रश्न एक मिनट के लिए है और उसका एक अंक दिया जाता है।

प्रत्येक प्रश्न के लिए तीन प्रयास स्वीकार्य हैं।
तीन प्रयासों में जिसमे भी उच्चतम अंक प्राप्त होंगे वही अंतिम परिणाम के रूप में विचारणीय होगा ।

प्रत्येक पाठ के लिए एक, कुल १३ बहु विकल्प प्रश्नोत्तरी हैं।
संक्षिप्त प्रश्नोत्तरी इस पाठ्यक्रम के अंतराल में 5 संक्षिप्त उत्तर वाले प्रश्नों का १५०-२०० शब्दों में उत्तर दिया जाना है ।
आपके संक्षिप्त उत्तर कंप्यूटर में सुरक्षित रखे जा सकते हैं ।

किसी भी सक्षिप्त उत्तर के लिए केवल एक प्रयास मान्य है, इसलिए कार्य सुरक्षित करने से पहले आप अच्छी तरह से जाँच कर लें ।
अंत में “सुरक्षित करें” बटन पर क्लिक करते ही आपके उत्तर सुरक्षित हो जायेंगे और आप उत्तर में किसी भी तरह के परिवर्तन करने के लिए सक्षम नहीं होंगे ।

इन उत्तरों के लिए अंकों की गिनती हाथ से (मानवीय) होगी इसलिए आपके कार्य प्रस्तुत करने के बाद शिक्षक (या ट्यूटर ) द्वारा जाँच पूरी होने तक अंक, तालिका में नज़र नहीं आएंगे ।
जांचकर्ता आपकी उत्तरपुस्तिका में टिप्पणी दे सकता है जो आपके लिए जाँच के बाद उपलब्ध रहेगी ।

आकलन:
• उम्मीदवार को प्रत्येक वीडियो और अन्य पठनीय सामग्री “अभ्यर्थी पुस्तिका” में से गहनतम अध्ययन करना होगा ।
• उम्मीदवार को निम्नलिखित परीक्षा के लिए भी उपस्थित होना होगा :
१. प्रत्येक वीडियो के बाद बहु-विकल्प प्रश्नोत्तरी २. नियमित अंतराल पर संक्षिप्त उत्तर वाले प्रश्न
३. सभी चार इकाइयों के पूरा होने पर खुली-पुस्तक आकलन
• कम से कम ६५% अंक पाने पर अभ्यर्थी को उत्तीर्ण माना जायेगा ।

व्यक्तिगत आधार पर अंकों की गणना इस प्रकार होगी :
बहु-विकल्प प्रश्नोत्तरी एवं संक्षिप्त प्रश्नोत्तरी

नोट: सभी छात्रों को वीडियो देखते समय संदर्भ के लिए साथ में अभ्यर्थी पुस्तिका का प्रिंटआउट रखना आवश्यक हैं।

एक साथ (उदाहरण के लिए: पति – पत्नी , परिवार के सदस्यों के साथ, आदि) अध्ययन कर रहे लोगों के लिए परीक्षा नीति: आप एक साथ अध्ययन तथा एक साथ नोट्स तैयार कर सकते हैं परन्तु अपने उत्तर आपके व्यक्तिगत समझ के आधार पर अलग-अलग प्रस्तुत किया जाने चाहिए।
एक दूसरे से शब्दशः उत्तरों को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

अंक-वितरण प्रणाली: प्रत्येक परीक्षा के लिए अंक इस प्रकार वितरित किया जाएगा।
बहु-विकल्प प्रश्नोत्तरी: ८०%
संक्षिप्त प्रश्नोत्तरी: २०%

अगर प्रत्येक में कम से कम ६५% से ऊपर उल्लिखित अंक-प्रतिशत मिलता है, तो आप निश्चित रूप से उत्तीर्ण मान लिए जायेंगे।

अंकों के वितरण:
बहु-विकल्प प्रश्नोत्तरी = १४५
अंक संक्षिप्त प्रश्नोत्तरी = २५ अंक (५ अंक प्रत्येक प्रश्न पर)

कुल = १७० अंक

प्रमाणीकरण: सफल अभ्यर्थियों को “जीबीसी-गुरु सेवा समिति” द्वारा अधिकृत “इस्कॉन शिष्य पाठ्यक्रम” के प्रमाण पत्र प्राप्त होंगे ।

प्रमाण-पत्र की एक-एक प्रति अभ्यर्थी के ई-मेल एवं उसके अनुशंषा अधिकारी को प्रेषित की जाएगी ।

पंजीकरण

For all correspondence / questions / suggestions regarding the course, please write to hindiidc@gmail.com